पेट की बीमारियां होने पर करें ये घरेलू उपचार

काम के चलते सही समय पर खाना न मिलने और भूख के लगने पर कुछ भी खा लेने से पेट की बामारियों में इजाफा हो रहा है। जैसा कि सभी जानते हैं कि पेट की बामारियां कई अन्य बीमारियों की जनक होती हैं। वहीं, यदि आपका पेट सही है तो अन्य बीमारियों के होने का खतरा कम रहता है। अब सवाल आता है कि पेट की बीमारियों से कैसे बचा जाए। सबसे पहले तो जान लेते हैं कि पेट में कौन सी बीमारियां हो सकती हैं।

काम के चलते सही समय पर खाना न मिलने और भूख के लगने पर कुछ भी खा लेने से पेट की बामारियों में इजाफा हो रहा है। जैसा कि सभी जानते हैं कि पेट की बामारियां कई अन्य बीमारियों की जनक होती हैं।

1- एसिडिटी

हमारे पेट में एसिड भोजन को पचाने का काम करता है लेकिन कई बार पेट में एसिड जरूरत से ज्यादा बनने लगता है। अब पेट में भोजन कम और एसिड ज्यादा हो जाता है। जिससे कि एसिडिटी की समस्या हो जाती है। मसालेदार और वसायुक्त भोजन करने से एसिडिटी होने लगती है। इसके अलावा समय पर भोजन न करने से एसिडिटी हो जाती है। विशेषज्ञों का मानना है कि एसिडिटी का एक कारण तनाव लेना भी है।

उपचार

एसिडिटी की समस्या से परेशान लोग सुबह उठने के बाद पानी पिएं। इसके अलावा रोज खाने के साथ केला, तरबूज, पपीता और खीरा खाएं। एसिडिटी के उपचार में तरबूज का रस फायदा करता है। नारियल पानी पीने से भी एसिडिटी से निजात मिलती है।

2- गैस की समस्या

अधिक समय तक खाना न मिलने से पेट में गैस की समस्या हो जाती है। आवश्यकता से अधिक पेट में गैस बनने से शरीर के बाकी अंगों के लिए खतरनाक होने लगती है। इसलिए गैस की समस्या होते ही इस पर ध्यान देना चाहिए।

उपचार

गैस की शिकायत होने पर ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए। वहीं, गैस को ठीक करने के लिए एक नींबू के रस में दो चम्मच पानी और स्वादानुसार काला नमक मिलाकर चुटकीभर खाने का सोडा मिलाकर पीएं। इसके अलावा गैस से राहत पाने के लिए पवन मुक्त आसन करना बहुत लाभदायक है।

3- कब्ज

कब्ज पानी के कम सेवन करने या भोजन में फैट की कमी से होता है। कब्ज की समस्या होने पर भूख नहीं लगती और शौच में समस्या होती है।

उपचार

कब्ज की समस्या से छुटकारा पाने के लिए दूध और पपीते का इस्तेमाल करना चाहिए। इसके अलावा रात को सोते समय गुनगुने पानी से त्रिफला चूर्ण खाने से कब्ज की समस्या में राहत मिलती है।

4- उल्टी

बार-बार उल्टी आना और जी मिचलाना पेट में रोग का कारण हो सकता है। ऐसा होने पर रोग का पता लगाना और इलाज करना जरूरी हो जाता है कि आखिर ऐसा क्यों हो रहा है। ताकि आगे चलकर कोई बड़ा रोग न हो जाए।

उपचार

उल्टी आने या जी मिचलाने पर हल्का भोजन करना चाहिए। कोशिश करनी चाहिए इस दौरान अधिक से अधिक दही का सेवन करना चाहिए।

5- लूज मोशन

अक्सर देखा जाता है कि मौसम बदले पर लूज मोशन की शिकायत हो जाती है। इसके अलावा खराब भोजन खाने पर भी कई बार लूज मोशन का शिकार हो जाते हैं। इसके बाद शारीरिक कमजोरी होने लगती है।

उपचार

लूज मोशन की शिकायत होने पर मूंग दाल की खिचड़ी और दलिया को ही खाना चाहिए। इसके साथ आप दही का सेवन भी कर सकते हैं। वहीं, केला और भुस्सी खाने से भी लूज मोशन में ठीक करने में सहायता मिलती है।

अगर आप भी अपनी समस्या से छुटकारा पाना चाहते है तो हमसे सम्पर्क कीजिये हम हमेशा आपकी सेवा में हाजिर है. सम्पर्क करने के लिए इस नंबर पर कॉल करे- +91-8010931122 +91-9999219128.

Checkout Our Latest Posts

मैं बहुत जल्दी स्खलित हो जाता हूँ। क्या मैं अपने बेड टाइमिंग को बढ़ा सकता हूँ?

सुकरात ने कहा है – स्त्री के साथ संसार व्यवहार जीवन में एक बार करना चाहिए। उस से मन ना भरे तो वर्ष में एक बार। उससे

Read the Article »

Shighrapatan Doctor Near Me – शीघ्रपतन चिकित्सक

Shighrapatan Doctor Near Me – शीघ्रपतन चिकित्सक शीघ्रपतन क्या है? शीघपतन शर्मिन्दगी देेने वाली सेक्स समस्या या गुप्त रोग है। सेक्स या संभोग करते समय जब पुरूष का स्त्री को

Read the Article »
घर पर शुक्राणु की संख्या जांच करने से पहले जानिये ये 7 जरुरी बातें

घर पर शुक्राणु की संख्या जांच करने से पहले जानिये ये 7 जरुरी बातें

घर पर शुक्राणु की संख्या जांच करने से पहले जानिये ये 7 जरुरी बातें | आजकल खराब जीवनशैली, कामकाज और घरेलु मानसिक तनाव के कारण पुरुषों में

Read the Article »
24 घंटे के भीतर पाए पाइल्स के दर्द से राहत

24 घंटे के भीतर पाए पाइल्स के दर्द से राहत

24 घंटे के भीतर पाए पाइल्स के दर्द से राहत पाइल्स ट्रीटमेंट सर्विस प्रोवाइडर दिल्ली  में :- बवासीर एक ऐसा रोग है, जिसका दर्द किसी भी उम्र के व्यक्ति

Read the Article »