स्तंभन दोष के लिए कुछ घरेलू उपचार क्या हैं जो वास्तव में काम करते हैं?

स्तंभन दोष के लिए कुछ घरेलू उपचार क्या हैं जो वास्तव में काम करते हैं?

व्यायाम के कुछ सेट हैं जो आपकी पैल्विक फ्लोर की मांसपेशियों को आराम देने और प्रदर्शन में सुधार करने में आपकी मदद कर सकते हैं। विशेष आहार के दैनिक सेवन, जिसमें बहुत सारे पौधे और साबुत अनाज शामिल हैं, से आपके रक्त प्रवाह पर एक उचित जांच भी रहेगी और आपको अधिक विस्तारित अवधि के लिए इरेक्शन को बनाए रखने में मदद करेंगे।

मोहन के लिंग की उत्तेजना दिन-ब-दिन कम होती जा रही थी और उन्होंनेन्हों इंटरनेट पर इसके बारे में सर्च किया तब उन्हें इरेक्टाइल डिसफंक्शन के बारे में पता चला। मोहन कहते हैं “सेक्स दौरान मेरे लिंग की उत्तेजना लगातार कम हो ती जा रही थी।

मैनें इसके बारे में इंटरनेट पर सर्च किया और मुझे पता चला कि इस समस्या को इरेक्टाइल डिसफंक्शन कहते हैं। तब मैनें इस डॉक्टर की खोज शुरू की और मेरी खोज Pristyn Care पर आकर रुकी जहां मेरी मुलाकात डॉक्टर रोहित से हुई।” डॉक्टर रोहित से मिलने के बाद मोहन ने उनसे कई प्रश्न किये जिन्हें नीचे बताया गया है। डॉक्टर मोहन को समझाते हैं “इरेक्टाइल डिसफंक्शन (Erectile Dysfunction in Hindi) पुरुषों में पाया जाने वाला एक यौन विकार है। इसे नपुंसकता भी कहा जाता है। यह एक ऐ बीमारी है जिसमें पुरुष इरेक्शन (Erection) कर पाने में असमर्थ होता है या फिर उसे बहुत कम समय के लिए इरेक्शन होता है। इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या हर उम्र के पुरुषों में दे जा सकती है।

यह बीमारी ज्यादातर उन पुरुषों में देखी जाती है जिनकी उम्र 45 वर्ष से अधिक होती है। (आगे पढ़ें: प्रेगनेंसी से बचने के घरेलू उपाय) पुरुष के सेक्शुअली एक्साइटेड (Sexually Excited) होने के बाद उनका दिमाग प्राइवेट पार्ट्स की नसों में खून की सर्कुलेशन को तेज कर देता है जिससे लिंग खड़ा हो जाता है। इरेक्टा डिसफंक्शन की समस्या तब उत्पन्न होती है जब सेक्शुअली एक्साइटेड होने के बावजूद लिंग में तनाव नहीं आ पाता है। ऐसे में आप अपनी सेक्सुअल लाइफ से असंतुष्ट रहते हैं।” (इसे भी सेक्स करने का सबसे बेस्ट तरीका) 

इरेक्टाइल डिसफंक्शन के प्रकार — Types of Erectile Dysfunction in Hindi नपुंसकता (इरेक्टाइल डिसफंक्शन) दो प्रकार की हो सकती है-

शॉर्ट टर्म इरेक्टाइल डिसफंक्शन — Short Term Erectile Dysfunction in Hindi शॉर्ट टर्म इरेक्टाइल डिसफंक्शन हमारी लाइफ स्टाइल से जुड़ा है। थकान, बेचैनी, स्ट्रेस की समस्या या शराब का अधिक सेवन करने पर शार्ट टर्म इरेक्टाइल डिसफंक्शन की  समस्या अगर बहुत समय से इरेक्शन नहीं हो पा रहा है तो इसके पीछे जरूर कोई ना कोई बड़ी वजह है। कई बीमारियां जैसे कोलेस्ट्रॉ ल (Choletsertol) का बढ़ना, डायबिटीज (Diabetes) या ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) की समस्या होने पर प्राइवेट पार्ट का ब्लड फ्लो (Blood Flow) प्रभावित होता है। इससे आपको लॉन्ग टर्म नपुंसकता की समस्या हो सकती टेस्टोस्टेरॉन (Testosterone) हार्मोन की कमी भी नपुंसकता का कारण बन सकती है।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लक्षण — Symptoms of Erectile Dysfunction in Hindi 

इरेक्शन होने में समस्या होना बहुत कम समय के लिए इरेक्शन होना सेक्स की इच्छा में कमी आना इरेक्टाइल डिसफंक्शन के कारण —

 Causes of Erectile Dysfunction in Hindi स्तंभन दोष के 2 मुख्य कारण हो सकते हैं- 1. शारीरिक कारण 2. मनोवैज्ञानिक कारण इरेक्टाइल डिसफंक्शन के शारीरिक कारण — 

Physical Causes of Erectile Dysfunction in Hindi मोटापा हृदय रोग डायबिटीज उच्च रक्तचाप पार्किंसंस रोग उच्च कोलेस्ट्रॉ ल लो मेटाबोलिज्म (Low Metabolism) नशीली पदार्थों का सेवन (तम्बाकू, शराब) पेल्विक क्षेत्र में अगर सर्जरी हो चुकी है तो ब्लड वेसल्स (Blood vessels) में रुकावट इरेक्टाइल डिसफंक्शन के मनोवैज्ञानिक कारण — 

Psychological Causes of Erectile Dysfunction in Hindi 

हमारा मस्तिष्क शरीर के कई जरूरी कार्यों में सहयोग और संचालन करता है। मस्तिष्क नपुंसकता का भी कारण बन सकता है। क्योंकिक्यों संभोग हमारे फीलिंग्स पर भी निर्भर करता है। काम का स्ट्रेस पार्टनर के साथ रिश्ते में अनबन और तनाव चिंता, अवसाद और अन्य मानसिक स्वास्थ्यविकार होने पर इरेक्टाइल डिसफंक्शन का इलाज — 

Treatment of Erectile Dysfunction in Hindi

इरेक्टाइल डिसफंक्शन के कई इला ज हैं। सर्वप्रथम डॉक्टर यह सुनिश्चित करते हैं कि कौन से वह कारक हैं जिनकी वजह से इरेक्टाइल डिसफंक्शन की शिकायत हो रही है। आपके शरीर परीक्षण करने के बाद डॉक्टर आपको इलाज और और उसेक फायदे तथा नुकसान के बारे में बताते हैं। इरेक्टाइल डिसफंक्शन का इलाज कई तरीकों से किया जा सकता है जो इस प्रकार ओरल मेडिकेशन — 

Oral Medication For Erectile Dysfunction in Hindi

 सिल्डेनाफिल (Sildenafil) टेडलाफिल (Tadalafil) वार्डेनफिल (Vardenafil) अवैनफिल (Avanafil) ऊपर बताई गई सभी दवाइयों में नाइट्रिक ऑक्साइड (Nitric Oxide) मौजूद होता है। नाइट्रिक ऑक्साइड एक ऐसा रसायन है जिससे लिंग की मांसपेशियों को आराम मिलता है और उत्तेज बढ़ती है जिसकी वजह से इरेक्शन करने में आसानी होती है। आगे पढ़ें: सेक्स पावर बढ़ाने का सबसे बेस्ट तरीका अन्य मेडिकेशन — 

Other Medications For Erectile Dysfunction in Hindi 

एलप्रोस्टेडिल सेल्फइंजेक्शन — Alprostadil Self-Injection For Erectile 

Dysfunction in Hindi इस प्रक्रिया के दौरान आपको एक बारीक नीडल (Needle) अपने लिंग के निचले भाग में इंजेक्ट (Inject) करना होता है। प्रत्येक नीडल से आप 1 घंटे तक इरेक्शन कर पाते हैं। सुई ब बारीक होती है इसलिए दर्द की शिकायत नहीं होती। हालांकि, इसके साइड इफेक्ट्स (Side effects) के तौर पर ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है। टेस्टेस्टेरॉन रिप्लेसमेंट — 

Testosterone Replacement For Erectile Dysfunction in Hindi 

कई पुरुषों में टेस्टोस्टेरो न हॉरमोन (Hormone) की कमी के कारण स्तंभन दोष की शिकायत होती है। ऐसे में टेस्टोस्टरॉन रिप्लेसमेंट थेरेपी (Therapy) अपनाई जा सकती है। इस उपचार बाद शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन दुबारा से बड़ी मात्रा में आ जाते हैं जिससे इरेक्शन में सुधार आता है।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लक्षण — Symptoms of Erectile Dysfunction in Hindi 

इरेक्शन होने में समस्या होना बहुत कम समय के लिए इरेक्शन होना सेक्स की इच्छा में कमी आना इरेक्टाइल डिसफंक्शन के कारण — 

Causes of Erectile Dysfunction in Hindi स्तंभन दोष के 2 मुख्य कारण हो सकते हैं-

 1. शारीरिक कारण 2. मनोवैज्ञानिक कारण इरेक्टाइल डिसफंक्शन के शारीरिक कारण — Physical Causes of Erectile Dysfunction in Hindi मोटापा हृदय रोग डायबिटीज उच्च रक्तचाप पार्किंसंस रोग उच्च कोलेस्ट्रॉ ल लो मेटाबोलिज्म (Low Metabolism) नशीली पदार्थों का सेवन (तम्बाकू, शराब) पेल्विक क्षेत्र में अगर सर्जरी हो चुकी है तो ब्लड वेसल्स (Blood vessels) में रुकावट इरेक्टाइल डिसफंक्शन के मनोवैज्ञानिक कारण — 

Psychological Causes of Erectile Dysfunction in Hindi

हमारा मस्तिष्क शरीर के कई जरूरी कार्यों में सहयोग और संचालन करता है। मस्तिष्क नपुंसकता का भी कारण बन सकता है। क्योंकिक्यों संभोग हमारे फीलिंग्स पर भी निर्भर करता है। काम का स्ट्रेस पार्टनर के साथ रिश्ते में अनबन और तनाव चिंता, अवसाद और अन्य मानसिक स्वास्थ्यविकार होने पर इरेक्टाइल डिसफंक्शन का इलाज —

 Treatment of Erectile Dysfunction in Hindi 

इरेक्टाइल डिसफंक्शन के कई इला ज हैं। सर्वप्रथम डॉक्टर यह सुनिश्चित करते हैं कि कौन से वह कारक हैं जिनकी वजह से इरेक्टाइल डिसफंक्शन की शिकायत हो रही है। आपके शरीर परीक्षण करने के बाद डॉक्टर आपको इलाज और और उसेक फायदे तथा नुकसान के बारे में बताते हैं। इरेक्टाइल डिसफंक्शन का इलाज कई तरीकों से किया जा सकता है जो इस प्रकार ओरल मेडिकेशन — 

Oral Medication For Erectile Dysfunction in Hindi 

सिल्डेनाफिल (Sildenafil) टेडलाफिल (Tadalafil) वार्डेनफिल (Vardenafil) अवैनफिल (Avanafil) ऊपर बताई गई सभी दवाइयों में नाइट्रिक ऑक्साइड (Nitric Oxide) मौजूद होता है। नाइट्रिक ऑक्साइड एक ऐसा रसायन है जिससे लिंग की मांसपेशियों को आराम मिलता है और उत्तेज बढ़ती है जिसकी वजह से इरेक्शन करने में आसानी होती है। आगे पढ़ें: सेक्स पावर बढ़ाने का सबसे बेस्ट तरीका अन्य मेडिकेशन — 

Other Medications For Erectile Dysfunction in Hindi ए

लप्रोस्टेडिल सेल्फइंजेक्शन — Alprostadil Self-Injection For Erectile Dysfunction in Hindi

 इस प्रक्रिया के दौरान आपको एक बारीक नीडल (Needle) अपने लिंग के निचले भाग में इंजेक्ट (Inject) करना होता है। प्रत्येक नीडल से आप 1 घंटे तक इरेक्शन कर पाते हैं। सुई ब बारीक होती है इसलिए दर्द की शिकायत नहीं होती। हालांकि, इसके साइड इफेक्ट्स (Side effects) के तौर पर ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है। टेस्टेस्टेरॉन रिप्लेसमेंट — 

Testosterone Replacement For Erectile Dysfunction in Hindi 

कई पुरुषों में टेस्टोस्टेरो न हॉरमोन (Hormone) की कमी के कारण स्तंभन दोष की शिकायत होती है। ऐसे में टेस्टोस्टरॉन रिप्लेसमेंट थेरेपी (Therapy) अपनाई जा सकती है। इस उपचार बाद शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन दुबारा से बड़ी मात्रा में आ जाते हैं जिससे इरेक्शन में सुधार आता है।