जब आंटी फ़्लो मिलने आती हैं, तो वे अकेली नहीं आतीं! ऐंठन, सूजन, शरीर में दर्द और मिजाज भी साथ आते हैं! इस दौरान आप क्या खाते हैं यह मायने रखता है।

मिथकों की दुनिया ऐसे कई खाद्य पदार्थों से भरी पड़ी है जो मासिक धर्म के दौरान खाने चाहिए या नहीं खाने चाहिए। दही एक है।

जहां कुछ खाद्य पदार्थ हैं जो आपके मासिक धर्म को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं, वहीं कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ भी हैं जो आपकी परेशानी को बढ़ा सकते हैं। पीरियड्स के दौरान क्या खाएं और क्या न खाएं, यह मिथकों के साथ आता है जैसे कि आपको खट्टे खाने से बचना चाहिए। हाँ महिलाओं, यह एक मिथक है कि खट्टा भोजन खाने से गंभीर ऐंठन हो सकती है या भारी रक्तस्राव हो सकता है। इसके साथ ही यह आम धारणा है कि पीरियड्स के दौरान महिलाओं को दही खाने से भी बचना चाहिए।

आपने भी कई बार अपनी मां से यह सुना होगा कि आपको दही नहीं खाना चाहिए क्योंकि इससे आपका रक्त प्रवाह बढ़ सकता है। लेकिन क्या इसमें कोई सच्चाई है? तथ्यों की जांच करने के लिए, हेल्थशॉट्स ने एक विशेषज्ञ से यह पुष्टि करने के लिए कहा कि यह सच है या नहीं।

क्या पीरियड्स में दही खा सकते हैं?

जी हां, पीरियड्स के दौरान दही का सेवन बहुत अच्छा किया जा सकता है।

एशियन इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, फरीदाबाद के प्रमुख आहार विशेषज्ञ विभा वाजपेयी कहते हैं, “कैल्शियम के अच्छे स्रोत के रूप में, दही हमारी हड्डियों और शरीर को पर्याप्त ताकत देने में मदद करता है। इसके अलावा, दही की प्रोबायोटिक प्रकृति सूजन और अन्य पाचन को कम करने में काम करती है। इसके अलावा, पीरियड्स के दौरान दही का सेवन चिंता और अवसाद को कम करने के साथ-साथ मांसपेशियों में दर्द और ऐंठन को कम करने में मदद करता है।”

पीरियड्स के दौरान खट्टे खाद्य पदार्थों और दही से परहेज करना सदियों पुरानी मान्यता है जो केवल मिथक हैं। ये किसी भी तरह से आपकी परेशानी को नहीं बढ़ाते हैं। वास्तव में, दही को स्वस्थ आंत बैक्टीरिया को बढ़ावा देने में मदद करने के लिए माना जाता है, जिससे सूजन या कब्ज की संभावना कम हो जाती है, जो ज्यादातर महिलाओं को उनके पीरियड्स के दौरान होती है।

पीरियड्स के दौरान दही खाने का एक सबसे अच्छा तरीका है छाछ या लस्सी क्योंकि यह हमारे शरीर को हाइड्रेट करने में मदद करता है और खोए हुए पोषक तत्वों की पूर्ति करता है।

यह भी पढ़ें: एसिडिटी हो या कब्ज, रोजमर्रा की समस्याओं के लिए गोलियों की जगह आजमाएं ये घरेलू नुस्खे

दही रात या शाम को क्यों नहीं खाना चाहिए?

दही प्रोटीन और कैल्शियम का एक समृद्ध स्रोत होने के कारण हमारी हड्डियों, दांतों और शरीर के अन्य कार्यों के लिए अच्छा है। इसके प्रोबायोटिक गुण पाचन में भी मदद करते हैं। विभा बाजपेयी कहती हैं, “हालांकि इस सुपरफूड का सेवन दिन के किसी भी समय किया जा सकता है, लेकिन कुछ शर्तों के तहत आपको रात या शाम को दही खाने से बचना चाहिए।”

यहां आपको दिन में बाद में दही खाने के बारे में जानने की जरूरत है

  • * जिन लोगों को खांसी-जुकाम हो या जिन्हें अस्थमा की समस्या हो उन्हें रात के समय दही का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • *आयुर्वेदिक उपचार लेते समय दही खाने से बचें क्योंकि यह आयुर्वेदिक दवा के साथ परस्पर क्रिया कर सकता है और इसके परिणामस्वरूप दवा का अवशोषण कम हो सकता है।
  • *सामान्य व्यक्ति बिना किसी शिकायत के रात को दही में मेथी, काली मिर्च आदि डालकर ले सकते हैं।

पीरियड्स के दौरान किन खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए?

आपका आहार आपके मासिक धर्म के दिनों में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, और इसलिए यह जानना महत्वपूर्ण है कि पीरियड्स के दौरान क्या खाना चाहिए और किन खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए।

यह भी पढ़ें: क्या प्रोबायोटिक्स से फंगल एक्ने का इलाज संभव है?

  • *अतिरिक्त मसालेदार भोजन से दूर रहें
  • *अतिरिक्त नमकीन भोजन से बचें
  • *कॉफी के सेवन से बचें
  • *प्रसंस्कृत और वसायुक्त खाद्य पदार्थों का सेवन सीमित करना चाहिए
  • *ध्यान रहे कि शराब का सेवन ना करें*
  • पीरियड्स के समय मौजूद मिथकों के आगे न झुकें!

Want A Consultation

Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit. Ut elit tellus, luctus nec ullamcorper mattis, pulvinar dapibus leo.

  • Skin Problems
  • Sexual Problems
  • Skin Problems
  • Sexual Problems
  • BOOK APPOINTMENT