Gurgaon Me shighrapatan ka desi ilaj

Gurgaon Me shighrapatan ka desi ilaj
Gurgaon Me shighrapatan ka desi ilaj


शीघ्र स्खलन (शीघ्रपतन) रोकने के घरेलू उपाय – Home Remedies for Premature Ejaculation

शरीर और स्वास्थ्य से जुडी कोई भी समस्या हमें परेशान करती है, लेकिन कुछ समस्याएं ऐसी होती हैं जो एक व्यक्ति को शारीरिक और मानसिक रूप दोनो से अत्यधिक परेशन करती हैं। इन्हीं समस्याओं में से एक है शीघ्रपतन (वीर्य जल्दी गिरना या निकलना)। यह बीमारी दोनों पार्टनर में चिंता और अवसाद जैसी नकारात्मक भावना को जन्म दे सकती है।

अगर आप भी इस समस्या का सामना कर रहे हैं तो चिंता करने की ज़रूरत नहीं है, क्योंकि ऐसे कुछ घरेलू उपाय हैं जिनके इस्तेमाल से आपको शीघ्रपतन की समस्या कम करने में मदद मिलेगी।

शीघ्र स्खलन का घरेलू उपाय है तरबूज – Shighrapatan rokne ke upay me kare watermelon ka up

इस फल को कई नामों से बुलाया जाता है। तरबूज रक्त वाहिकाओं को बिना किसी नुकसान के लाभ पहुंचाता है।
तरबूज में पोटेशियम, मैग्नीशियम और अमीनो एसिड होते हैं जो रक्त वाहिकाओं (blood vessels) को स्वस्थ रखते हैं और रक्त के प्रवाह को सुनिश्चित करते हैं। पोटेशियम को वासोडिलेटर (vasodilator) माना जाता है, जो रक्त वाहिकाओं और धमनियों पर तनाव पैदा करता है, रक्त प्रवाह को उत्तेजित करता है और कार्डियोवैस्कुलर (cardiovascular) प्रणाली पर तनाव को कम करता है।
तरबूज का महत्वपूर्ण तत्व फीटोनुट्रिएंट (phytonutrient) जिसे सिट्रूलाइन (citrulline) के नाम से भी जाना जाता है। यह घटक किसी भी व्यक्ति की कामेच्छा को बढ़ा सकता है।

शीघ्रपतन दूर करने का तरीका है एस्परैगस – Shighrapatan dur karne ka upay hai asparagus

एस्परैगस लिली के परिवार के समूह से संबंधित होता है और यह इसके औषधीय गुणों के लिए जाना जाता है। बहुत कम पौधों के समान, एस्परैगस के सभी अंग बहुत ही फायदेमंद होते हैं। जड़ी बूटी बैंगनी, हरे और सफेद रंगों में आती है।
एस्परैगस जड़ी बूटी में मौजूद खनिज, विटामिन, प्रोटीन और जिंक टेस्टोस्टेरोन को बढ़ाते हैं। इनकी मदद से कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम रहता है और विटामिन सी की मदद से स्पर्म की मात्रा बढ़ती है साथ ही लिंग का रक्त प्रवाह और ब्लड प्रेशर भी सुधरता है। इस घरेलू उपाय को शीघ्रपतन के लिए सबसे अच्छा उपाय माना गया है।

वीर्य जल्दी गिरने से रोकने का घरेलू नुस्खा है केसर – Virya jaldi girne se rokne ka upay hai kesar

केसर को कामोत्तेजक से भी जाना जाता है इसलिए यह वीर्य जल्दी गिरने से रोकने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

केसर में मौजूद खनिज, जिंक, आयरन आदि शीघ्रपतन का इलाज करने के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। एक अच्छा सम्भोग जीवन पाने के लिए ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखें। और ब्लड को नियंत्रित रखने के लिए सोडियम का सेवन कम करें। बादाम में सोडियम कम मात्रा में पाया जाता है जो आपकी शीघ्रपतन की समस्या के लिए बेहद फायदेमंद है। अदरक में सूजनरोधी और एंटीऑक्सीडेंट के गुण पाए जाते हैं जो इन समस्याओं को दूर रखते हैं। इलाइची में कई खनिज पाए जाते हैं जो ब्लड प्रेशर और ह्रदय की गति को नियंत्रित रखने में मदद करते हैं साथ ही शीघ्रपतन की समस्या का भी समाधान करते हैं।

शीघ्र स्खलन रोकने का उपाय है दालचीनी – Shighrapatan rokne ka tarika hai cinnamon

दालचीनी अपने पेड़ की छाल से तैयार होती है। आम तौर पर यह छाल सर्दी जुकाम, गैस्ट्रिक समस्याओं, दस्त और जठरांत्र संबंधी परेशानी (जीआई) के लिए उपयोग किया जाता है। इसके अलावा दालचीनी तेल को गलारे, लोशन साबुन, टूथपेस्ट, कॉस्मेटिक प्रोडक्ट और दवा उत्पादों में उपयोग किया जाता है। हालाँकि काफी कम लोगो को यह पता है कि दालचीनी की छाल भूख को उत्तेजित करती है, मासिक धर्म में ऐंठन का इलाज करती है, शीघ्रपतन का उपचार करती है और परजीवी कीड़े और बैक्टीरिया की वजह से संक्रमण को ठीक करती है।

वीर्य जल्दी निकलने से रोकने का देसी नुस्खा है हरा प्याज – Virya jaldi nikalne rokne ka gharelu upay hai green onion

हरी प्याज के बीज का उपयोग वीर्य जल्दी निकलने की समस्या को दूर करने के लिए उपयोग किया जाता है। इस सब्जी का लाभ यह है कि यह सभी मौसमों में उगाया जा सकता है। इसकी कामोद्दीपक (aphrodisiac) गुण वीर्य जल्दी निकलने की समस्या से निकलने में मदद करते हैं।
हरी प्याज में सूजनरोधी और एंटी-हिस्टामिन के गुण होते हैं। इसके साथ ही इसमें कई खनिज शामिल होते हैं जो स्पर्म की मात्रा को बढ़ाते हैं, ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखते हैं और सम्भोग के लिए एक स्वस्थ रक्त का परिसंचरण करते हैं। इनकी मदद से शीघ्रपतन की समस्या से राहत मिलती है।

शीघ्र स्खलन दूर करने का घरेलू नुस्खा है अश्वगंधा – Shighrapatan ko dur karne ke tarika hai ashwagandha

ये घरेलू उपाय शीघ्रपतन की समस्या के लिए बेहद लाभदायक है। आमतौर पर जड़ी बूटी हमेशा अंगों की ताकत बढ़ाती हैं और शरीर की सहनशक्ति में सुधार करती हैं। आम तौर पर, इस जड़ी बूटी का उपयोग पुरुष बांझपन, नपुंसकता के लिए किया जाता है। यह तनाव, चिंता, अनिद्रा और हल्का ट्यूमर के विकास को भी दूर करता है।

इस जड़ी बूटी में रोगाणुरोधी गुण होते हैं जो साल्मोनेला (Salmonella) के खिलाफ लड़ते हैं। यह जड़ी बूटी तंत्रिका तंत्र के लिए अच्छी होती है और जननांग अंगों सहित पूरे शरीर में रक्त परिसंचरण में सुधार करती है। अश्वगंधा पुरुषों को यौन संभोग के दौरान लंबी अवधि प्राप्त करने में मदद करता है और आपको शीघ्रपतन जैसी समस्या से दूर रखता है।

शीघ्र स्खलन से छुटकारा दिलाता है अदरक – Shighrapatan se mukti dilata hai ginger

हमारे पूर्वजों ने हमेशा फलों और सब्जियों को अच्छे से खाने पर ज़ोर दिया। हालाँकि 20 वीं सदी में विज्ञान इतना उन्नत नहीं था लेकिन फिर भी वे जानते थे कि प्राकृतिक भोजन खाने से शरीर की प्रतिरक्षा शक्ति बढ़ती है और साधारण बीमारियों को रोकने में भी मदद मिलती है। अदरक कई व्यंजनों में पसंदीदा मसालों और जड़ी-बूटियों में से एक है। इसका उपयोग सामान्य बीमारियों जैसे डायरिया और गठिया का इलाज करने के लिए किया गया है। अदरक को यौन समस्याएं जैसे कि शीघ्रपतन का इलाज करने के लिए जाना जाता है। अदरक और शहद का सेवन लिबिडो, और विकृत (lustful) भावनाओं को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
अदरक रक्त परिसंचरण को बढ़ाता है और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है। इसके साथ ही यह खून के प्रवाह को भी बढ़ाता है और शीघ्रपतन की समस्या को भी दूर करता है। शहद में ऊर्जा देने का एक अच्छा स्त्रोत होता है। शहद में आयरन, विटामिन सी और कैल्शियम पाया जाता है।

शीघ्र स्खलन को खत्म करें जायफल से – Shighrapatan ko khatam kare nutmeg se

इंडोनेशियाई के घरों में प्रसिद्ध सामग्री में से एक जायफल का इस्तेमाल कई बिमारियों के लिए उपयोग किया जाता है। इस मसाले के कामोद्दीपक गुण शीघ्रपतन की समस्या के लिए बेहद फायदेमंद घरेलू उपाय है। इसके औषधीय गुणों को अरब और मलेशिया जैसे देशों में बहुत पसंद किया जाता है। यह मसाला कई स्वास्थ्य लाभों से जुड़ा हुआ है जैसे अपच की समस्या, दर्द से राहत, शीघ्रपतन को दूर करना, विषाक्त पदार्थों को निकालना, पूरे शरीर में खून का संचलन आदि। आप जायफल के पाउडर को सॉस, सूप आदि के साथ मिलाकर खा सकते हैं।

जायफल में कई प्रभावी खनिज पाए जाते हैं। यह ह्रदय की गति और ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है। अन्य महत्वपूर्ण घटक जैसे मिरिस्टीसिन (myristicin) और मेकलिगनन (macelignan) इसमें मौजूद होते हैं। दोनों मस्तिष्क के लिए लाभदायक होते हैं। इसी प्रकार यह अल्जाइमर रोग और मनोभ्रंश से भी बचाव करते हैं। साथ ही यह सभी कारक शीघ्रपतन की समस्या का भी इलाज करते हैं।

शीघ्रपतन ठीक करने का तरीका है कस्तूरी – Shighrapatan thik karne ka upay hai kasturi

कस्तूरी को महासागर या खारे पानी में पनपा स्वादिष्ट सी फ़ूड माना जाता है। इतिहास का मानना है कि इसका उपयोग दूसरी शताब्दी ईस्वी के बाद से ही किया जाने लगा था। कस्तूरी का इस्तेमाल स्ट्यू और अन्य व्यंजनों में किया जाता है।
कस्तूरी में मौजूद जिंक स्पर्म की मात्रा और पुरुष हार्मोन टेस्टोस्टेरोन (एक व्यक्ति की दैनिक आवश्यकताओं की 1500 प्रतिशत से अधिक) को स्वस्थ बनाये रखने में मदद करता है। जिंक एक व्यक्ति की कामेच्छा को बढ़ाता है।

वीर्य जल्दी गिरने से रोकने का तरीका है एवोकाडो – Shighrapatan rokne ke tarike me kare avocado ka upyog

एवोकैडो में बहुत अधिक औषधीय गुण होते हैं। एवोकैडो शीघ्रपतन जैसी समस्या के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। इस वीर्य जल्दी गिरने की को ठीक करने के लिए आपको कच्चे एवोकैडो खाने हैं .
एवोकाडो में उच्च मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट के गुण और खनिज पाए जाते हैं। इसमें मौजूद विटामिन ई ऑर्गज़्म की तीव्रता को उत्तेजित करते हैं।

शीघ्रपतन से बचने का तरीका है खजूर – Shighrapatan se bachne ka upay hai dates

खजूर हमें अरबी देशों की याद दिलाते हैं जहां प्रचुर मात्रा में विदेशी फल पाए जाते हैं। हजारों साल पहले, अरब देशों में खजूर लोकप्रिय थे और सिक्कों और दीवारों में चित्रित किए जाते थे। खजूर हृदय संबंधी समस्याओं, कब्ज, एनीमिया, दस्त और पेट के कैंसर जैसे विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं में सहायता करते हैं। वज़न बढ़ाने के लिए भी खजूर का इस्तेमाल किया जाता है। कुछ आहार विशेषज्ञों का मानना है कि एक दिन में दो खजूर खाने से स्वस्थ और संतुलित आहार मिलता है।
ये फल फाइबर, खनिज और विटामिन से समृध होता है जो दस्त, कब्ज, यौन रोग और पेट की समस्याओं जैसी स्थितियों का इलाज करता है। इसमें मौजूद फ्लेवोनोइड और एस्ट्राडियोल औषधीय गुण समय से पहले होने वाले शीघ्रपतन का इलाज करते हैं। इसकी मदद से स्पर्म की गुणवत्ता, टेस्ट्स का वज़न और स्पर्म की गतिशीलता बढ़ती है।

शीघ्र स्खलन की समस्या का समाधान करे कद्दू के बीज से – Shighrapatan samasya ka samadhan kare pumpkin seeds se

कद्दू के बीजों में मैग्नीशियम होता है। यह खनिज टेस्टोस्टेरोन को खून के प्रवाह तक पहुंचाने में मदद करता है।
इसमें असंतृप्त वसा के गुण होते हैं जो रक्त के प्रवाह और दिल के लिए अच्छे होते हैं। यह आपकी शीघ्रपतन की समस्या का इलाज करने में भी मदद करते हैं।

Want A Consultation

Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit. Ut elit tellus, luctus nec ullamcorper mattis, pulvinar dapibus leo.

  • Skin Problems
  • Sexual Problems
  • Skin Problems
  • Sexual Problems
  • Gurgaon Me shighrapatan ka desi ilaj

    BOOK APPOINTMENT