मधुमेह: अपने आहार में कुछ जड़ी-बूटियों और मसालों को शामिल करने से स्वस्थ रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखने में मदद मिल सकती है। इनमें से कुछ विशेषज्ञ द्वारा सुझाए गए हैं।

मधुमेह से पीड़ित होने पर, स्वस्थ रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखना आवश्यक है। अनियंत्रित रक्त शर्करा का स्तर कई जटिलताओं से जुड़ा हुआ है। एक स्वस्थ आहार और जीवन शैली टाइप -2 मधुमेह के प्रबंधन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। हाल ही में, पोषण विशेषज्ञ नमामी अग्रवाल ने उन जड़ी-बूटियों की एक सूची साझा की, जिन्हें मधुमेह रोगियों को अपने आहार में शामिल करना चाहिए। भारतीय रसोई कई प्रकार की जड़ी-बूटियों और मसालों से भरी हुई है। ये कई औषधीय गुणों और स्वास्थ्य लाभों से भरे हुए हैं। इनमें से कुछ जड़ी-बूटियां मधुमेह को प्रबंधित करने और रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकती हैं। यदि आप मधुमेह के रोगी हैं, तो इन विशेषज्ञ-अनुशंसित जड़ी-बूटियों और मसालों को देखना न भूलें।

मधुमेह: रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए जड़ी-बूटियाँ और मसाले

हल्दी [Turmeric]

पोषण विशेषज्ञ के अनुसार, हल्दी में करक्यूमिन एक मजबूत एंटीऑक्सीडेंट है और मधुमेह की जटिलताओं का इलाज करने में मदद करता है। हल्दी शरीर को कई फायदे पहुंचा सकती है। हल्दी एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भी भरी हुई है। आप अपने आहार में हल्दी को कई तरह से शामिल कर सकते हैं।

मेथी [Methi]

Dr. Yuvraj Monga वीडियो में कहते हैं, “मेथी के बीज पाचन और कार्बोहाइड्रेट के अवशोषण को धीमा करके रक्त शर्करा के स्तर में सुधार करते हैं।” मेथी के बीज आपके दिल के लिए भी अच्छे होते हैं क्योंकि वे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने और सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं।

तुलसी [Basil]

तुलसी प्रतिरक्षा में सुधार करती है और शरीर को मजबूत बनाती है। पोषण विशेषज्ञ इस बात पर भी प्रकाश डालते हैं कि तुलसी रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद कर सकती है। तुलसी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम कर सकते हैं। तुलसी को मानसिक स्वास्थ्य में सुधार के लिए भी जाना जाता है।

दालचीनी [Cinnamon]

दालचीनी में एंटी-वायरल, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं। इसमें एंटीऑक्सिडेंट और साथ ही एक विरोधी भड़काऊ प्रभाव होता है। अध्ययनों के अनुसार, दालचीनी टाइप-2 मधुमेह के खतरे को कम करने में मदद कर सकती है। अग्रवाल ने वीडियो में उल्लेख किया, “सभी जड़ी-बूटियों में से, दालचीनी यह सबसे शक्तिशाली जड़ी-बूटी है जिसमें मिथाइल हाइड्रॉक्सी चेल्कोन पॉलीमर होता है जो ग्लूकोज के उत्थान को उत्तेजित करता है।”

यदि आप मधुमेह रोगी हैं, तो कम जीआई खाद्य पदार्थों के साथ स्वस्थ आहार लें और स्वस्थ रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखने के लिए नियमित शारीरिक व्यायाम को अपनी दिनचर्या में शामिल करें।

Disclaimer: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने डॉक्टर से सलाह लें। ब्लॉग इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।